• बंद गली से आगे
    बंद गली से आगे

डॉ. सुजाता वर्मा – परिचय

हिन्दी की विदुषी महिला डा0 सुजाता वर्मा का जन्म कानपुर महानगर के लाजपत नगर मोहल्ले में एक प्रतिष्ठित पंजाबी तथा एक प्रमुख व्यवसायी परिवार में 22 सितम्बर 1960 का को हुआ। आपके पिता स्वर्गीय श्री मंगतराम सचदेवा एक सफल व्यवसायी थे , तथा आपकी माता श्रीमती कृष्णावन्ती सचदेवा एक कुशल व प्रतिभा सम्पन्न गृहणी थीं जिनका प्रभाव बाल्यावस्था से ही डा0 सुजाता पर पड़ा।

Featured

कोई नाम न दो

"जो सच है वह यह कि महज संसर्गों और संपर्कों का प्रतिरूप है जीवन ! कभी दिखता नहीं। कभी मिलता नहीं। मिलता है, तो निभता नहीं। सामाजिक परिवेश में तो एक अजूबा बनकर रह जाता है, यह जीवन। लोग जो स्वयंभू हैं, झुंड में समाज है, बौखलाए हैं। जो कहते हैं वह करते नहीं। जो करते हैं उसे कहते नहीं। मानो कथनी और करनी एक नदी के दो ऐसे किनारे हों जिन पर एक साथ विश्राम कर पाना सम्भव ही न हो।"

कहते हैं, प्रेम करो, घृणा से घृणा करो। प्रेम पूजा है, इबादत है, नसीहत है, जीवन है और न जाने क्या-क्या है? मगर जब कभी कहीं निश्चल प्रेम का आगाज होता है, तो वही जो लोग, झुंड में भागती हुई भेड़ों के समान खलबली मचा देते हैं, भुनकर खाक हो जाते हैं। प्रतिशोध की अग्नि में हाथ सेंकने लगती है। प्रवंचना में मानवता को होम कर देते हैं।

"ऐसे ही हैं, अशक्त लोग। जर्जर सिद्धांतों, परम्पराओं और खानदानी उसूलों को साक्षी बनाकर सस्नेह, प्रेम की होली जला खुश होते हैं जहरीले लोग। फिर क्यों न भला हम उन्हें छोड़ कहीं दूर, बहुत दूर चलें। हमेशा और हमेशा के लिए चलें । जहाँ दरख्तों के साए भी छाँह न दे सकें। वहाँ कौन ठहरे ?"

"चलो, चलें, एक गुलिस्ताँ बना डालें। गुलशन बना डालें। इंसानियत की महराब, इंसान से दूर, बहुत दूर बना डालें। मनुष्यत्व पैदा कर डालें। पीछे मुड़कर न देखें। इसी में सबका हित है।"

अविनाश!

इसी उपन्यास से........

फेल न होना ….

फेल न होना… भाग – 10

0
यह तीन वर्ष भविष्य की आशा संजोये तेज़ी से फुर्र हो गए। सरकते हुए मार्च का महीना फिर आ गया। लेकिन इस बार मार्च...

एक कबीर और ….

दुर्भाग्य

0
दुर्भाग्य की स्थिति वैचित्र्यपूर्ण है। वह कभी अकेला नहीं आता। जब आता है तो भाग के मारे हुए व्यक्ति की संपूर्ण बुद्धि विपरीत हो...

शग़ल

0
स्वस्थ मन। पुष्ट शरीर। सफल जीवन। इन सभी के लिए कुछ शर्तें हैं उनमें से एक शर्त है शग़ल, व्यसन या हाबी का होना।...

जिद्दीपन

0
अक्सर जिद्दीपन को प्रबल इच्छाशक्ति का पर्याय मान लिया जाता है। यह समझा जाता है कि जो जितना बड़ा जिद्दी है, हठी है उसमें...

गूँज

सन्देश / सूचना

पंचम राष्ट्रीय हिंदी लेखन प्रतियोगिता-2022 विषय-आत्मनिर्भर भारत: खतरे, कारण और निदान
नियमावली
1. प्रतिभागी अपना नाम, आयु,सम्प्रति, पूरा पता तथा मोबाइल नंबर लेख के आरंभ में लिखें।
2. लेख 2500 शब्दों में एक ओर टाइप भेजें। लेख के अंत में शब्द संख्या अवश्य लिखें। मौलिक रचनाएं ही भेंजे।पांडुलिपि वापस नहीं होगी।
3. प्रविष्टि निःशुल्क है। लेख में किसी धर्म, जाति, सम्प्रदाय व राजनैतिक दल का संदर्भ न हो।
4. लेख 25 फरवरी 2022 तक मंत्री, डॉ सुजाता वर्मा स्मृति समिति, 305 आनंद पैलेस, 10/499, खलासी लाइन, कानपुर-208002 को भेजें।
5. लेखों के संबंध में तीन सदस्यीय निर्णायक मंडल का निर्णय अंतिम होगा।
6. वरिष्ठ वर्ग (स्नातक व स्नाकोत्तर) में प्रथम पुरस्कार रु0 3100, द्वितीय पुरुस्कार रुपये 2100, तृतीय पुरुस्कार रुपये 1100 तथा रुपये 500 के दो सांत्वना पुरस्कार दिए जाएंगे।
7. विजयी प्रतिभागियों को नगद पुरुस्कार तथा प्रथम, द्वितीय व तृतीय विजेताओं को श्री श्याम सुंदर सचदेवा स्मृति स्वर्ण/रजत पदक तथा डॉ सुजाता वर्मा स्मृति सांत्वना रजत पदक दो प्रतिभागियों को दिए जाएंगे
8. कनिष्ठ वर्ग (माध्यमिक स्तर) के विजयी प्रतिभागियों को श्री हरप्रकाश स्मृति स्वर्ण/रजत पदक दिए जाएंगे।
9. उत्तम लेखन की लिए एक पदक श्रीमती लक्ष्मी देवी जयंत स्मृति स्वर्ण पदक दिया जाएगा।
10. समारोह में किसी भी क्षेत्र में प्रशंसनीय कार्य की लिए एक वरिष्ठ तथा एक कनिष्ठ उप्लब्धिकर्ता को सम्मानित किया जाएगा।
11. प्रमाणपत्र सभी प्रतिभागियों को दिये जायेंगे।
12. पुरुस्कृत तथा अन्य प्राप्त स्तरीय लेखों का प्रकाशन ISBN प्रमाणित पुस्तक रूप में विकास प्रकाशन द्वारा होगा।
13. समारोह के पशचात विकास प्रकाशन से पुस्तक मूल्य पर प्राप्त की जा सकेगी। संपर्क-9415154156.
14. समारोह 22 सितंबर 2022 को प्रस्तावित है। समारोह की सूचना www.drsvss.org पर उपलब्ध होगी।
15. अधिक जानकारी के लिए www.drsvss.org देखें। मोबाइल संपर्क-9935202966 , 9450057852
विशेष- माननीय प्राध्यापकों व वरिष्ठ लेखकों से प्राप्त लेख आमंत्रित लेखों के रूप में प्रकाशित किये जायेंगे। आमंत्रित लेखों के लिए कोई शब्द सीमा नहीं है।
--------------------------------------
पंकज बाजपेयी-सयोंजक
पूजा पराशर-समन्वयक चेन्नई
प्रिय वर्मा- मंत्री

  • लेख 31 मार्च 2021 तक फ्लैट 305 आनंद पैलेस 10/499 खलासी लाइन कानपुर पते पर भेजें या हमारे ईमेल पते info@drsvss.org पर भेजें


  • संदेश

    कोई भी संस्था ,समिति या संगठन विचारो का एक ऐसा समागम होता है ,जहाँ सपनो का मेला लगता है । उनमे से कुछ लुभावने सपनो को साकार करने की तमन्ना सदस्यों को ऊर्जावान बनाती है । उनके प्रयास उनके साथ समाज के एक बड़े भाग को भी महत्वकांक्षी सपनो के स्पंदन से लाभांवित करते हैं । इस समिति के भी कुछ ऐसे सपने हैं जिन्हें साकार करने के लिए आप सभी जनो का सहयोग आपेक्षित है । यह सहयोग समिति को आपसे मिलेगा हमारा विश्वास है ।
    सरन पी. वर्मा ( अध्यक्षा )

  • पंचम राष्ट्रीय हिंदी लेखन प्रतियोगिता 2021

  • विषय - आत्म निर्भर भारत : चुनौतियां व संभावनाए
  • समीक्षा : दरीचे मन के

    मीडिया

    चित्र दीर्घा -2018

    चित्र दीर्घा -2019

    चित्र दीर्घा 2020 – 2021

    Dr. Sujata Varma Smriti Samiti Ceremony 2020 - 21
    Video thumbnail
    मुख्य अथिति श्रीमती नीलिमा कटियार राज्य मंत्री उच्च शिक्षा, विज्ञान व प्रौद्यगिकी उत्तर प्रदेश शासन
    00:14
    Video thumbnail
    मुख्य अथिति श्रीमती नीलिमा कटियार जी व विशिष्ट गण
    00:13
    Video thumbnail
    डॉ. कमल मुसद्दी द्वारा संचालन
    02:33
    Video thumbnail
    डॉ. कमल मुसद्दी द्वारा संचालन , पार्ट - 2
    00:49
    Video thumbnail
    डॉ. सुजाता वर्मा के चित्र पर माल्यार्पण को जाती हुई मुख्य अतिथि
    00:02
    Video thumbnail
    डॉ. सुजाता वर्मा के चित्र पर माल्यार्पण
    01:34
    Video thumbnail
    सेन महाविद्यालय की शीतल शर्मा, वैदेही द्विवेदी व इशिता मकरटीज़ ने सरस्वती वन्दना प्रस्तुत की
    05:31
    Video thumbnail
    प्रबंधक सेन महाविद्यालय शुब्रो सेन द्वारा भाव-अभिव्यक्ति
    17:35
    Video thumbnail
    डॉ. निशा अग्रवाल द्वारा सम्बोधन पार्ट - 1
    01:06
    Video thumbnail
    डॉ. निशा अग्रवाल द्वारा सम्बोधन पार्ट - 2
    01:42
    Video thumbnail
    डॉ. निशा अग्रवाल द्वारा सम्बोधन पार्ट - 3
    00:43
    Video thumbnail
    समिति व डॉ. सुजाता वर्मा का परिचय देते हुए डॉ. सुरेश अवस्थी पार्ट - 1
    00:29
    Video thumbnail
    समिति व डॉ. सुजाता वर्मा का परिचय देते हुए डॉ. सुरेश अवस्थी पार्ट - 2
    01:14
    Video thumbnail
    समिति व डॉ. सुजाता वर्मा का परिचय देते हुए डॉ. सुरेश अवस्थी पार्ट - 3
    02:43
    Video thumbnail
    समिति व डॉ. सुजाता वर्मा का परिचय देते हुए डॉ. सुरेश अवस्थी पार्ट - 4
    01:19
    Video thumbnail
    समिति व डॉ. सुजाता वर्मा का परिचय देते हुए डॉ. सुरेश अवस्थी पार्ट - 5
    04:56
    Video thumbnail
    मुख्य अथिति व मंचासीन विशिष्ट गण का सम्मान
    04:14
    Video thumbnail
    मुख्य अथिति द्वारा स्वछन्द सोशल मीडिया : खतरें कारण और निदान का विमोचन
    00:11
    Video thumbnail
    मुख्य अथिति द्वारा कवियों व अन्य विशिष्ट का सम्मान
    10:35
    Video thumbnail
    मुख्य अथिति द्वारा कवियों व अन्य विशिष्ट का सम्मान पार्ट - 2
    06:55
    Video thumbnail
    मुख्य अथिति द्वारा कवियों व अन्य विशिष्ट का सम्मान पार्ट - 3
    00:36
    Video thumbnail
    मुख्य अथिति द्वारा उदबोधन
    03:48
    Video thumbnail
    मुख्य अथिति द्वारा उदबोधन पार्ट - 2
    02:51
    Video thumbnail
    मुख्य अथिति द्वारा उदबोधन पार्ट - 3
    00:33
    Video thumbnail
    महिमा पाण्डेय द्वारा काव्य पाठ
    02:54
    Video thumbnail
    काजल चौधरी द्वारा काव्य पाठ
    01:44
    Video thumbnail
    अंकिता श्रीवास्तवा द्वारा काव्य पाठ
    01:53
    Video thumbnail
    अनुराधा श्रीवास्तवा द्वारा काव्य पाठ
    03:55
    Video thumbnail
    कवी आर.आर. मोहन द्वारा काव्य पाठ
    07:02
    Video thumbnail
    निहारिका कुंवर द्वारा काव्य पाठ
    07:02
    Video thumbnail
    कवि दिलीप दुबे द्वारा काव्य पाठ
    08:20
    Video thumbnail
    कवि सुरेश राजहंस शुक्ल द्वारा काव्य पाठ
    00:42
    Video thumbnail
    कवि सुरेश राजहंस शुक्ल द्वारा काव्य पाठ पार्ट - 2
    09:01
    Video thumbnail
    कवियित्री भावना तिवारी द्वारा काव्य पाठ लोकेश शुक्ल पार्ट - 1
    10:03
    Video thumbnail
    कवियित्री भावना तिवारी द्वारा काव्य पाठ पार्ट - 1
    05:01
    Video thumbnail
    कवि लोकेश शुक्ल द्वारा काव्य पाठ पार्ट - 1
    02:18
    Video thumbnail
    कवि लोकेश शुक्ल द्वारा काव्य पाठ पार्ट - 2
    01:36
    Video thumbnail
    कवि लोकेश शुक्ल द्वारा काव्य पाठ पार्ट - 3
    04:58