कोरोना दोहावली

570

हरपल मास्क लगाईये, नाक-मुंह ढक जाय ।
आपन रक्षा हो भली, ओरन भी बच जाय ।।
आंवला नींबू चूसिये, लहसुन हल्दी खाय ।
गर्म जल सेवन करें, कोरोना फटक ना पाय ।।

सैर-सपाटा छोड़ी सब, घर भितर छुपया जाय ।
चार हाथन का फासला, बस एको यही उपाय ।।
साबुन हाथ धुलाइए, दिन में दस एक बार ।
धोत-धोत ही ख़त्म हो, वायरस को घरबार।।

नाक मुंह न छुईयें, न मसलें आंखन यार ।
इन्हीं रास्ते पैठत है, कोरोना को परिवार ।।
सूखी खांसी, तेज बुखार, साँस लेन तकलीफ ।
लक्षण जब ये पायिए, कोरोना लाये तशरीफ़ ।।

बहो नहीं अफवाहों में, जो फैले रोज हज़ार ।
सुनो मनो करो वही, जो कहती है सरकार ।।
दिल में डर ना पालिए, डर का इलाज न कोय ।
हर पल हिम्मत राखिये, विजयी ‘भारत’ होय ।।

=>डा. भारत लोहनी, आई आई टी कानपुर, कानपूर

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here