नव वर्ष

292
Mohini Tiwari

नव वर्ष तुम्हारा स्वागत है
तुम जीवन में उल्लास भरो
नव रंग, उमंग, तरंग लिए
थकते प्राणों की प्यास हरो…

हे वर्ष! तुम्हारा है वंदन
तुम ज्ञान, बुद्धि की खान बनो
बढ़ते भारत की शान बनो
हर नारी का अभिमान बनो
नव वर्ष तुम्हारा है वंदन….

जब दुनिया पूरी डरी हुई
तुम ऐसे पल पर आए हो
है यही आस हम सबकी
कि तुम समाधान सब लाए हो…

नव वर्ष तुम्हारा स्वागत है
हे वर्ष ! तुम्हारा है वंदन…।

मोहिनी तिवारी

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here